अंतरिक्ष अन्वेषण (खोज) का इतिहास | History of Space Exploration

अंतरिक्ष अन्वेषण का इतिहास | History of Space Exploration

What is Space History अंतरिक्ष शब्द (space word- Space Exploration) से अभिप्राय उस विशाल अंतहीन स्थान (Infinite places) से होता है, जो पृथ्वी के वायुमंडल (Earth’s atmosphere) के परे फैला हुआ है। चंद्रमा (moon) संभवतः अंतरिक्ष में सबसे बड़ा आकर्षक पिण्ड (astronomical objects) रहा है। Space Exploration

क्योंकि प्रायः वैज्ञानिक उपन्यासों एवं अन्य साहित्यिक रचनाओं में काल्पनिक अंतरिक्ष यात्रियों की अंतिम मंजिल चंद्रमा (moon) ही था। इच्छा शक्ति ने मनुष्य को अंतरिक्ष की खोज ‘अन्वेषण’ (Space Exploration) की प्रेरणा दी।

first man in space, history of space, Space Exploration, space exploration essay, space exploration facts, space exploration history, space exploration in India, space travel, Sputnik 1, what is space, space research, Indian space exploration, space exploration of India, Earth and Space, Earth and Space Science Questions,
history of space exploration facts | earth and space gk

अंतरिक्ष अन्वेषण (Space Exploration) का इतिहास घटनाएं

अंतरिक्ष अन्वेषण (Space Exploration History) की इतिहास में हुई घटनाएं निम्न है-

वर्ष 1957 में अंतरिक्ष अन्वेषण (First Space Exploration) का कार्यक्रम प्रारंभ हुआ था।

इस वर्ष रूस के भूतपूर्व सोवियत यूनियन 4 अक्टूबर को स्पूतनिक-1 (Sputnik I) नामक कृत्रिम उपग्रह अंतरिक्ष में भेजा।

यह उपग्रह (Satellite) पृथ्वी के चारों ओर दीर्घवृत्ताकार कक्ष (Elliptical space) में परिक्रमा करने लगा, जिसके लिए भूमि उच्च बिन्दु (Apogee) का मान 941 कि.मी. तथा भूमि निम्न बिन्दु (Perigee) का मान 227 कि.मी. था।

What is Orbit | ग्रहपथ या कक्षा किसे कहते है ? 

पृथ्वी के चारों ओर घिरा मार्ग, जिससे उपग्रह परिक्रमा करता है, कक्ष (Orbit) कहलाता है। उपग्रह (Satellite) की कक्ष वृत्ताकार (circular) या दीर्घवृत्ताकार (ellipsoid) होती है।

किसी कक्ष (orbit) को परिभाषित करने वाले अवयव भूमि उच्च बिन्दु, भूमि निम्न बिन्दु तथा आनति है, जिसे नीचे परिभाषित किया गया है-

  • भूमि उच्च बिन्दु (Apogee)
  • भूमि निम्न बिन्दु (Perigee)
  • आनति (Inclination)

भूमि उच्च बिन्दु | Apogee

किसी उपग्रह की कक्ष (satellite of the earth orbit) में पृथ्वी से सबसे दूर स्थित बिन्दु को भूमि उच्च बिन्दु (Apogee) कहते है।

भूमि निम्न बिन्दु | Perigee

किसी उपग्रह की कक्ष (satellite of the earth orbit) में पृथ्वी से सबसे निकट स्थित बिन्दु को भूमि निम्न बिन्दु (Perigee) कहते है।

आनति | Inclination

किसी उपग्रह की कक्षा (satellite orbit) द्वारा भूमध्य रेखा के साथ बनाए जाने वाले कोण को आनति (Inclination) कहते हैं। इसे अल्फा (∝) से दर्शाते है।

प्रथम सोवियत उपग्रह (First Soviet Satellite) के बाद भूतपूर्व सोवियत संघ (Soviet Union) ने विशाल आकार का उपग्रह स्पूतनिक-2 (Sputnik II) का प्रक्षेपण 3 नवंबर 1957 को किया।

इस उपग्रह में ‘लाइका (Laika)‘ नाम का कुत्ता (soviet space dog) भी भेजा गया। इस उपग्रह का भार 500 कि.ग्रा. था।

स्पूतनिक-2 (Sputnik II) को भेजने का मुख्य कारण उसके शरीर के ताप, रक्तदाब एवं हृदय गति पर पड़ने वाले प्रभावों को अध्ययन करना था।

इसके अध्ययन ने उपग्रह प्रक्षेपण के क्षेत्र में महत्वपूर्ण आंकड़े प्राप्त करने में सहयोग दिया जिनके उपयोग से अंतरिक्ष में मानव को भेजने (Human in space flight) का मार्ग प्रशस्त हुआ।

संयुक्त राष्ट्र संघ (USA) भी उपग्रह प्रक्षेपण (Satellite launch) के क्षेत्र में सक्रिय हुआ तथा 31 जनवरी 1958 को उसने एक्सप्लोरर-1 (Explorer 1 spacecraft) नामक अंतरिक्षयान प्रक्षेपित किया।

जिसके द्वारा 1000 कि.मी. की ऊँचाई तक पृथ्वी के वायुमंडल के घनत्व, ताप एवं संघटन से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त हुई । जिसे एक्सप्लोरर (Explorer) नाम दिया गया।

एक्सफ्लोरर (Explorer) नाम इसलिए दिया गया, क्योंकि यह मुख्य रूप से अन्य आकाशीय पिण्डों की खोज एवं अंतरिक्ष में जीवन की संभावना की खोज करने के लिए भेजा गया था।

मानव रहित अंतरिक्ष उड़ान

अंतरिक्ष से संबंधित आवश्यक घटनाओं की जानकारी के लिए, 1960 से 1970 के मध्य अंतरिक्ष उड़ान से मनुष्य भी अंतरिक्ष में कदम रखा।

12 अप्रैल, 1961 को प्रथम अंतरिक्ष यात्री (First Man in Space) के रूप में सोवियत यूनियन का ‘यूरी गागरिन‘ (Yuri Gagarin) था।

मानव रहित प्रथम अंतरिक्ष उड़ान से अंतरिक्ष में पहला मानव भेजने में लगभग 4 वर्ष का समय लगा।

यूरी गागरिन (Yuri Gagarin) के पश्चात् अमेरिका ने 5 मई, 1961 को अपने अंतरिक्षयान में ‘एलन शेपर्ड‘ (Alan Shepard) नामक व्यक्ति को भेजा।

वर्ष 1965 के बाद अमेरिका की तुलना में अंतरिक्ष अन्वेषण (Space Exploration) में सोवियत रूस अग्रणी रहा।

वोष्टाॅक 6 (Vostok 6) में 4 दिसम्बर 1963 को भूतपूर्व सोवियत यूनियन की ‘वेलेनटाइना टेरिशलोवा‘ (Valentina Tereshkova) ने अंतरिक्ष उड़ान की।

वेलेनटाइना टेरिशलोवा, जिन्हें प्रथम महिला अंतरिक्ष यात्री (First lady astronaut into space) का गौरव प्राप्त हुआ।

18 मार्च, 1965 को सोवियत रूस (Soviet Union) के ‘एलेक्सि लिनाॅव‘ (Aleksy Leonov) ने अंतरिक्ष में विचरण किया।

16 जुलाई, 1969 को अमेरिका ने ‘अपोलो-2‘ (Appollo 2) का प्रक्षेपण किया, जिसमें तीन अंतरिक्ष यात्री भेजे गये जो ‘नील आर्मस्ट्रांग‘ (Neil Armstrong) , ‘एडविन ऐल्डरिन‘ (Edwin Aldrin : ‘Buzz Aldrin’) एवं ‘माइकल काॅलिंग‘ (Michael Collins) थे।

नील आर्मस्ट्रांग ने चन्द्रमा की धरती पर सर्वप्रथम कदम रखा (Neil Armstrong on the moon)। उनके 8 मिनट के पश्चात एडविन ऐल्डरिन(Buzz Aldrin) चन्द्रमा पर उतरे।

प्रथम भारतीय अंतरिक्ष यात्री ‘स्क्वाड्रन लीडर कैप्टन राकेश शर्मा (First Indian astronaut on the moon) थे।

80 के दशक में अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में स्थायी अंतरिक्ष केन्द्रों की स्थापना (space centers) तथा अंतरिक्ष शटल (space shuttle) का विकास हुआ।

इन अंतरिक्ष शटलों (Space Shuttle) का प्रयोग कई बार अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में ले जाने में किया जाता है।

80 के दशक की मुख्य उपलब्धि उपग्रह तकनीक (Satellite technology) के अनुप्रयोग के क्षेत्रों में वृद्धि, अंतरिक्ष में एक स्थायी खगोलीय वेधशाला की स्थापना तथा वॉयेजर द्वितीय (Voyager 2) नामक अंतरिक्षयान का प्रक्षेपण था।

इस वॉयेजर अंतरिक्षयान की सहायता से समस्त ग्रहों के बहुत निकट से गुजरकर उनके चित्र पृथ्वी पर भेजे गये।

वर्ष 1992 के अप्रैल महीने में एक विशिष्ट उपलब्धि प्राप्त हुई, जब अमेरिका अंतरिक्ष यात्रियों के एक दल द्वारा अंतरिक्ष में पहले से भेजे गये उपग्रह में उत्पन्न त्रुटियों को सुधारा गया तथा सुधारने के पश्चात उपग्रह को पुनः उसकी कक्ष में स्थापित कर दिया गया।

अंतरिक्ष अन्वेषण के इतिहास की प्रमुख घटना संबंधी सारणी

अंतरिक्ष अन्वेषण के इतिहास (history of space exploration chart) की कुछ प्रमुख घटनाओं का विवरण इस प्रकार हैः-

उपग्रह का नाम प्रक्षेपण की तिथि उपलब्धि
स्पूतनिक-1 (Sputnik I) 04.10.1957 अंतरिक्ष में भेजा गया पहला उपग्रह
स्पूतनिक-2 (Sputnik II) 03.11.1957 अंतरिक्ष में पहली बार जीवित कुत्ते को ले जाने वाला उपग्रह
स्कोर (Score) 18.12.1958  अंतरिक्ष में स्थापित प्रथम संचार उपग्रह
लूना-3 (Luna III) 04.10.1959  प्रथम अंतरिक्षयान जिसने चंद्रमा की सतह के चित्र भेजे थे, जो पृथ्वी से दिखाई नहीं देते
वोष्टाॅक-1 (Vostok I) 12.04.1961  मनुष्य द्वारा प्रथम अंतरिक्ष यात्रा
वोष्टाॅक-6 (Vostok 6) 04.12.1963  भूतपूर्व सोवियत यूनियन की वेलेनटाइना टेरिशलोवा की अंतरिक्ष उड़ान। इन्हें प्रथम महिला अंतरिक्ष यात्री का गौरव प्राप्त हुआ।
इंटेलसेट (Intelset) 06.04.1965  व्यावसायिक क्षेत्र के लिए उपयोगी पहला संचार उपग्रह
वेनेरा-3 (Venera 3) 16.11.1965  पहला अंतरिक्षयान जो शुक्र ग्रह पर उतरा
लूना-9 (Luna 9) 21.10.1968  चंद्रमा की धरती पर उतरने वाला पहला अंतरिक्ष यान
सोयूज-4 (Soyuz 4) 14.01.1969  सबसे पहला प्रयोगात्मक अंतरिक्ष केन्द्र की स्थापना
अपोलो-2  (Appollo II) 16.07.1969  नील आर्मस्ट्रांग जो चंद्रमा पर कदम रखने वाले पहले मनुष्य हूए। एडविन ऐल्डरिन उनके 8 मिनट बाद चंद्रमा की धरती पर उतरे।
मार्स-2 (Mars 2) 19.05.1971  मंगल ग्रह (mars) पर उतरने वाला प्रथम अंतरिक्षयान
पायनियर-10 (Pioneer 10) 02.03.1972  इस अंतरिक्षयान ने ग्रहिका पट्टी की खोज की तथा इसने बृहस्पति ग्रह के बहुत करीब से चित्र लिये।
लैंडसेट-1 (Landset I) 10.07.1972  सुदूर संवेदन में प्रयुक्त प्रथम उपग्रह
ऐपोलो-सोयूज (Appollo Soyuz Test Project) 15.07.1975  टेस्ट प्रोजेक्ट अंतरिक्ष में पहला अंतर्राष्ट्रीय संपर्क व्यवस्था
वाइकिंग I (Viking 1) 20.07.1976 मंगल की सतह से पहली तस्वीरें प्रेषित
पायनियर 11 (Pioneer 11) 01.09.1979 शनि की सतह के ऊपर उड़ान भरने वाला पहला अंतरिक्ष यान
कोलंबिया (Columbia) 12–14.04.1981 पहले पुन: प्रयोज्य अंतरिक्ष यान (reusable spacecraft) का प्रक्षेपण हुआ और अंतरिक्ष अंतरिक्ष शटल से लौटा 
वॉयेजर 2 (Voyager 2) 24.01.1986 यूरेनस (अरुण) के ऊपर उड़ान भरने वाला पहला अंतरिक्ष यान
जिओत्तो (Giotto) 13.03.1986 एक धूमकेतु (Halley’s Comet) नाभिक के करीब उड़ने वाला पहला अंतरिक्ष यान
वॉयेजर 2 (Voyager 2) 24.08.1989 नेप्च्यून (वरुण) के ऊपर उड़ान भरने वाला पहला अंतरिक्ष यान
हबल अंतरिक्ष सूक्ष्मदर्शी
(Hubble Space Telescope)
25.04.1990 पहला बड़ा ऑप्टिकल स्पेस टेलीस्कोप लॉन्च किया गया
गैलीलियो (Galileo) 07.12.1995 बृहस्पति की परिक्रमा करने वाला पहला अंतरिक्ष यान
इरोस (Eros) 14.02.2000; 12.02.2001 क्षुद्रग्रह (comet orbit) कक्षा (2000) उड़ान भरने वाला पहला अंतरिक्ष यान और भूमि पर (2001) लौटा 
कैसिनी-होयगेन्स
(Cassini–Huygens)
01.07.2004 शनि (Saturn) की परिक्रमा करने वाला पहला अंतरिक्ष यान
हायाबुसा (Hayabusa) 13.06.2010 क्षुद्रग्रह (comet) से नमूनों के साथ पृथ्वी पर लौटने वाला पहला अंतरिक्ष यान
मैसेंजर (Messenger) 17.03.2011 बुध की परिक्रमा करने वाला पहला अंतरिक्ष यान
रोसेटा (Rosetta) 06.08.2014 धूमकेतु (comet) की परिक्रमा करने वाला पहला अंतरिक्ष यान
फिले (Philae) 12.12.2014 धूमकेतु (comet surface) पर उतरने वाला पहला अंतरिक्ष यान
डौन (Dawnf) 06.03.2015 बौना ग्रह (सीरीस Ceres) की परिक्रमा करने वाला पहला अंतरिक्ष यान
न्यू हॉरिज़ोन्स (New Horizons) 14.07.2015 प्लूटो पर उड़ान भरने वाला पहला अंतरिक्ष यान
फाल्कन 9 (Falcon 9 | SpaceX) 21.12.2015 अपने प्रक्षेपण स्थल पर लौटने के लिए पहला रॉकेट (SpaceX) चरण
न्यू हॉरिज़ोन्स (New Horizons) 01.01.2019 सबसे दूर की वस्तु (2014 MU69) एक अंतरिक्ष यान द्वारा खोजी गई
चांग 4 (Chang’e 4) 03.01.2019 चंद्रमा के सबसे पहले नीचे उतरने वाला यान
चंद्रयान 2 (Chandrayaan 2) 22.07.2019 चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतारकर सतह पर जल, खनिज एवं सहत की जाँच करने वाला यान
History of Space Exploration FAQs

अंतरिक्ष में मानव यात्रा (Traveling in space) से जुड़े महत्‍वपूर्ण तथ्‍य (facts of space) संबंधी जानकारी इस प्रकार है :-

  • अंतरिक्ष में प्रवेश करने वाला प्रथम व्यक्ति कौन है ?- मेजर यूरी गागरिन (रूस)
  • प्रथम महिला अंतरिक्ष यात्री कौन है ? – वेलेंटीना तेरेश्कोवा
  • चन्द्रमा पर कदम रखने वाला प्रथम व्यक्ति अंतरिक्ष यात्री कौन है ? – नील आर्मस्ट्रांग
  • चन्द्रमा पर उतरने वाला प्रथम व्यक्ति अंतरिक्ष यात्री कौन है ? – नील आर्मस्ट्रांग एवं एडविन एल्ड्रिन (दूसरा व्यक्ति)
  • अंतरिक्ष यान से बाहर निकलने वाला पहला व्यक्ति कौन है ? – अलेक्सेई लेओनोव
  • दो बार अंतरिक्ष में जाने वाले प्रथम सोवियत यात्री कौन है ? – कर्नल व्लादिमीर कोमारोव
  • अंतरिक्ष में विचरण करने वाला पहला व्यक्ति कौन है ? – एलेक्सी लियोनोव
  • अंतरिक्ष में विचरण करने वाला पहला अमेरिकी यात्री कौन है ? – एडवर्ड हाइट
  • सबसे अधिक दिनों तक अंतरिक्ष में रहने वाला अंतरिक्ष यात्री कौन है ? – वालेरी पोल्याकोव
  • प्रथम भारतीय अंतरिक्ष यात्री कौन है ? – स्क्वाड्रन लीडर राकेश शर्मा
  • प्रथम भारतीय महिला अंतरिक्ष यात्री कौन है ? – कल्पना चांवला
  • अंतरिक्ष में विचरण करने वाली पहली महिला अंतरिक्ष यात्री कौन है ? – श्वेतलाना सेवित्स्काया
  • अंतरिक्ष में जाने वाली पहली अमेरिकी महिला अंतरिक्ष यात्री कौन है ? – सैली क्रिस्टेन राइड
  • अंतरिक्ष में जाने वाली प्रथम अध्यापिका कौन है ? – शेरिन क्रिस्टा मेकोलिफ (अमरिका)
  • सबसे कम उम्र का अंतरिक्ष यात्री (Youngest astronaut) कौन था ? – कार्ल जी हैनिजे
  • सबसे अधिक उम्र का अंतरिक्ष यात्री (Oldest astronaut) कौन था ? – कार्ल जी हैनिजे
  • अंतरिक्ष में भेजे जाने वाला प्रथम अंतरिक्ष शटल (space shuttle) का नाम क्या है ? – कोलम्बिया
  • चंद्रमा (moon) पर उतरने वाला पहला चालकविहीन अंतरिक्षयान कौन सा है ? – लूना 9
  • चंद्रमा पर उतरने वाला पहला चालकरहित अंतरिक्षयान (Spacecraft) का नाम है ? – अपोलो 11
  • चन्द्रमा (moon) पर उतरने वाला पहला चालकयुक्त अंतरिक्षयान (Spacecraft) का नाम है ? – ईगल
  • मंगल ग्रह (mars) पर उतरने वाला पहला अंतरिक्षयान का नाम क्या है ? – वाइकिंग 1
  • चंद्रमा की परिक्रमा करने वाला प्रथम अंतरिक्षयान (Spacecraft) का नाम क्या है ? – लूना 10
  • अंतरिक्ष में दो देशों के अंतरिक्ष यानों का प्रथम मिलन कब हुआ था ? – 15 जुलाई 1915
  • भारत का प्रथम चालक रहित अंतरिक्षयान – लक्ष्य (सितम्बर 1992)
  • मंगल ग्रह (mars) पर चालक रहित अंतरिक्षयान (Spacecraft) भेजना वाला पहला देश कौन सा है ? – अमेरिका
इन्हें भी पढ़ें
विषय संबंधित पोस्ट

reply

Your email address will not be published.

Answer Show नहीं होने पर Button के Right Side क्लिक करे.