गौरेला-पेंड्रा-मरवाही: छ.ग. का 28वां जिला संबंधी जानकारी | CG New District

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला गठन | Gaurela Pendra Marwahi District

New District in Chhattisgarh : स्वतंत्रता दिवस की 72वीं वर्षगांठ पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा छत्तीसगढ़ प्रदेश में एक नये जिले गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (New Gaurela Pendra Marwahi District) का निर्माण की घोषणा गया था। जहाँ दिनांक 20 सितंबर 2019 को राजस्व विभाग द्वारा पहली अधिसूचना (New CG New District Formation) जारी किया है।

15 अगस्त 2019 को घोषित नये जिला का निर्माण बिलासपुर जिला को विभाजित कर 10 फरवरी 2020 (सोमवार) को छत्तीसगढ़ राज्य का 28वां जिला संबंधी अधिसूचना जारी किया है।

नये जिले के गठन पश्चात् छत्तीसगढ़ राज्य में जिलों की कुल संख्या 27 से बढ़कर 28 होगी। जिसे गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला (Gaurela Pendra Marwahi District) के नाम से जाना जायेगा।

गठित/प्रस्तावित जिला आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है। जहां गौरेला ब्लॉक के घने जंगलों के बीच राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र ‘बैगा’ आदिवासियों की बड़ी संख्या भी निवास करती हैं।

इस कारण इस गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला पहला विशेष अनुसूचित क्षेत्र (chhattisgarh’s first special scheduled area district) वाले जिले का दर्जा प्राप्त होगा।

cg gaurela pendra marwahi district, new 28th district inaugurate, new district name of chhattisgarh, chhattisgah new district name, gaurela pendra marwahi district, new district of chhattisgarh, gaurela pendra marwahi jila, gaurella pendra marwahi district map, pendra gaurela marwahi jila, pendra marwahi jila, pendra district map, gaurella pendra marwahi question, gaurella pendra marwahi gk question
New CG Gaurela Pendra Marwahi District Formation | Gk Questions and Answers in Hindi

जिला विभाजन

जिला विभाजन पूर्व छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा जिले वाला संभाग, बस्तर संभाग (कुल 07 जिले) था। बाकि अन्य 04 संभाग- दुर्ग संभाग, रायपुर संभाग, बिलासपुर संभाग, सरगुजा संभाग में 05-05 जिले थे/हैं।

28वां जिला गठन के पश्चात बिलासपुर संभाग, बस्तर संभाग के बाद सर्वाधिक जिले वाला दुसरा संभाग बिलासपुर संभाग होगा। जिसमे कुल 06 जिले होगें।

नये जिला के घोषणा/निर्माण के पहले बिलासपुर के अंतर्गत 08 तहसील थे। बिलासपुर, बिल्हा, मस्तुरी, तखतपुर, कोटा, गौरेला, पेण्डा, एवं मरवाही मौजूद है।

28वां जिला गठन के पश्चात इसमें से 03 तहसील गौरेला, पेण्डा, मरवारी को अलग कर नया जिले बनाया गया। अलग होने के बाद बिलासपुर जिला में 05 तहसील (बिल्हा, मस्तुरी, तखतपुर, बिलासपुर, कोटा) बचेंगे।

नये जिले में 03 तहसील (Tehsil) 03 विकासखण्ड (block) है। जिसका नाम गौरेला, पेण्डा एवं मरवाही है।

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला गठन उपरांत यह पहला विशेष अनुसूचित क्षेत्र (cg first special scheduled area) वाला जिला एवं एकमात्र विधानसभा क्षेत्र/ विधानसभा सीट– मरवाही (अनुसूचित जनजाति) वाला जिला बनेगा। परंतु, लोकसभा चुनाव में मरवाही तहसील कोरबा लोकसभा क्षेत्र में आता है।

  • जनजाति – बैगा (विशेषकर गौरेला) – राष्ट्रपति का दत्तक पुत्र माना जाता है
  • केन्द्र शासन द्वारा घोषित 5 विशेष पिछड़ी जनजाति (special backward tribes) है – अबुझमाड़िया, बैगा, बिरहोर, कमार, पहाड़ी कोरवा

बिलासपुर जिला में हुआ परिवर्तन

  • तहसील और नगर पंचायत – 05 (बिल्हा, मस्तुरी, तखतपुर, बिलासपुर, कोटा)
  • विकासखंड और जनपद पंचायत – 04 (बिल्हा (बिलासपुर शामिल), मस्तूरी, तखतपुर, कोटा)

छ.ग. में गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही के 28वां जिला बनने के बाद हुआ परिवर्तन –

  • छ.ग. में जिलों की कुल संख्या28
  • भू-आवेष्ठीत जिलों की संख्या19
  • अंतर्राज्यीय सीमा पर स्थित जिले की संख्या18
  • सर्वाधिक 7 जिले से घिरे जिले की संख्या2 (कोरबा (7)– जांजगीर-चांपा, रायगढ़, सरगुजा, सूरजपुर, कोरिया, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही और बिलासपुर एवं बलौदाबाजार (7)– जांजगीर-चांपा, बिलासपुर, मुंगेली, बेमेतरा, रायपुर, महासमुंद और रायगढ़)

नोटबिलासपुर की सीमा रेखा अब कोरिया को स्पर्श नहीं करेगी। मुंगेली ज़िले को कुल 05 ज़िलों को स्पर्श करेगी – बिलासपुर, बेमेतरा, बलौदाबाज़ार, कबीरधाम, गोरेला पेंड्रा मरवाही। 

जिले की सीमाएं

छत्तीसगढ़ के पड़ोसी राज्य अर्थात राज्य सीमा स्पर्श करने यह जिला मध्यप्रदेश को स्पर्श करेगा, जो गौरेला और पेण्ड्रा होगी।

नए जिले की सीमाएं –

  • उत्तर में     – कोरिया जिले (मनेंद्रगढ़ तहसील)
  • दक्षिण में    – बिलासपुर जिले (कोटा तहसील) और मुंगेली जिले (लोरमी तहसील)
  • पूर्व में         – कोरबा जिले (कटघोरा तहसील)
  • पश्चिम में   – मध्यप्रदेश के अनूपपुर जिले (सोहागपुर व पुष्पराजगढ़ तहसील)

भूआवेष्ठित जिला

छत्तीसगढ़ प्रदेश में भू आवेष्ठित जिले (ऐसी जिले जिसकी बाहरी सीमाये छत्तीसगढ़ राज्य के पड़ोसी राज्यों की सीमा को स्पर्श नहीं करती) विभाजन के पहले छत्तीसगढ़ का भू-आवेष्ठित जिला की संख्या 09 है।

विभाजन के बाद बिलासपुर एक भू-आवेष्टित जिला होगा। जिसे मिलाकर वर्तमान मे छत्तीसगढ़ में कुल छत्तीसगढ़ का भू-आवेष्ठित जिला की संख्या 10 होगा। 

कुल भू-आवेष्ठित जिला होगा – 09 + 01(बिलासपुर) = 10 जिला

  • बस्तर        – दंतेवाडा
  • दुर्ग            – दुर्ग, बालोद, बेमेतरा
  • रायपुर        – रायपुर, बलौदाबाजार
  • बिलासपुर   – बिलासपुर, कोरबा, जांजगीर-चांपा
  • सरगुजा      – सरगुजा

पडोसी जिला

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला का पडोसी जिले की संख्या 04 होगा अर्थात् छ.ग. के अन्य जिले के सीमा को स्पर्श करती है। स्पर्श करने वाली जिला जैसे- बिलासपुर, मुंगेली, कोरिया, कोरबा शामिल होगा।

इतिहास में मांग

छत्तीसगढ़ का इतिहास में बिलासपुर को वर्ष 1861 में जिले का दर्जा मिल गया था। वर्ष 1985 को कांग्रेस नेता राजेन्द्र प्रसाद ने गौरेला पेण्डा क्षेत्र को नया जिल के रूप मध्यप्रदेश विधानसभा में मांग उठाने का निर्णय लिया गया।

अलग जिले की मांग इसलिए किया जाता था क्योकि बिलासपुर के उपरी क्षेत्र में वन से आच्छादित है। जिला मुख्यालय दूर होने के प्रशासनिक कार्य हेतु मांग रखी जाती रही है।

परन्तु राजेन्द्र प्रसाद के विधानसभा अध्यक्ष चुने जाने के पश्चात भी यह मांग नहीं रखी गई ।

वर्ष 1998 में पुनः मांग रखी गयी। जिसमें कोरबा और जांजगीर-चांपा जिले बनाया गया। वर्ष 2012 में मुंगेली जिले का गठन किया गया। तत्पश्चात् वर्ष 2019 में गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला का का गठन किया गया।

जिला निर्माण का क्रम एवं विभाजन

  • 1861 – बिलासपुर (मध्यप्रांत में)
  • 1998 – कोरबा और जांजगीर चांपा (बिलासपुर से)
  • 2012 – मुंगेली (बिलासपुर से)
  • 2019 – गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही (बिलासपुर से)

बिलासपुर जिला बनाने के बाद अब तक 03 बार विभाजित कर अलग जिले का गठन किया गया है।

छत्तीसगढ़ प्रदेश में इससे पहले वर्ष 2011 में एक साथ 9 जिलों का गठन किया गया था। अब 8 वर्ष बाद फिर एक नए जिले का गठन किया गया है। छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना के बाद से अब-तक कुल 11 नए जिले बनाए जा चुके हैं।

जिला गौरेला-पेंड्रा-मरवाही सम्पूर्ण विवरण

गठन/ स्थापना तिथि 10 फरवरी 2020
घोषणा 15 अगस्त 2019
पहली अधिसूचना 20 सितंबर 2019 (राजस्व विभाग)
जिला क्रम 28वाँ
मातृ जिला बिलासपुर
सीमावर्ती राज्य मध्यप्रदेश
सीमावर्ती जिलें 4 (कोरिया, कोरबा, बिलासपुर, मुंगेली)
क्षेत्रफल 2307.39 वर्ग कि.मी.
जनसंख्या 336420 (जनगणना 2011)
तहसील 3 (गौरेला, पेन्ड्रा, मरवाही)
विकासखंड 3 (गौरेला, पेन्ड्रा, मरवाही)
नगर पंचायत 2 (गौरेला, पेन्ड्रा)
जनपद पंचायत 3 (गौरेला, पेन्ड्रा, मरवाही)
ग्राम पंचायत 162
परिवहन रेल सुविधा
प्राकृतिक प्रदेश  छ.ग. का मैदान
ऊंची चोटी  पलमाचोटी (1080 मी.)
चट्टान कड़प्पा क्रम
खनिज चूना पत्थर
प्रमुख नदी अरपा (उद्गम- खोडरी खोंगसरा पहाड़ी), सोन नदी (सोन भद्र)
पर्यटन स्थल
  • जलेश्वर महादेव (पेण्ड्रा)-12वी सदी कलचुरी कालीन
  • जामवंत पार्क
पुरातात्विक स्थल  धनपुर (तहसील क्षेत्र) -उत्तरपाषाण काल अवशेष
वन साल, सागौन (प्रमुख)
विशेष मरवाही वनमंडल में सफेद भालू पाया जाता है
औद्योगिक क्षेत्र अंजनी (पेण्ड्रा)- रानी दुर्गावती औद्योगिक क्षेत्र
पशु प्रजनन केन्द्र पकरिया (पेण्ड्रा)
परियोजना जामवंत परियोजना- मरवाही, कटघोरा, मनेन्द्रगढ़
विधानसभा क्षेत्र/ सीट 1 (मरवाही, अनुसूचित जनजाति)
प्रथम समाचार पत्र छ.ग. मित्र, (मासिक पत्रिका) 1900 -पेण्ड्रा रोड़ से, प्रकाशक– माधवराव सप्रे

 

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिला संबंधी प्रश्नोत्तरी | CG New District Questions

Q.1 छ.ग. के नये जिला गठन संबंधी प्रथम अधिसूचना (notification) कब जारी किया गया?
[A] 15 अगस्त 2019
[B] 20 सितंबर 2019
[C] 15 जनवरी 2020
[D] 10 फरवरी 2020

[B] 20 सितंबर 2019 (राजस्व विभाग)

Q.2 गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिला कब अस्तित्व (निर्माण/गठन) में आया ?
[A] 15 अगस्त 2019
[B] 20 सितंबर 2019
[C] 26 जनवरी 2020
[D] 10 फरवरी 2020

[D] 10 फरवरी 2020

Q.3 छ.ग. का 28 वां जिला निर्माण की घोषणा कब की गई ?
[A] 26 जनवरी 2020
[B] 10 फरवरी 2020
[C] 20 सितंबर 2019
[D] 15 अगस्त 2019

[D] 15 अगस्त 2019

Q.4 गौरला-पेण्ड्रा-मरवाही जिला में तहसील (Tehsil) एवं विकासखंड (Block) की संख्या कितनी है?
[A] 2, 3
[B] 3, 3
[C] 2, 2
[D] 3, 2

[B] 3, 3 (गौरेला, पेन्ड्रा, मरवाही)

Q.5 गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिला का पड़ोसी जिला की संख्या कितनी है/सीमा स्पर्श करती है?
[A] 02
[B] 03
[C] 04
[D] 05

[C] 04 (बिलासपुर, मुंगेली, कोरिया, कोरबा)

Q.6 वर्तमान मे छ.ग. में कुल छत्तीसगढ़ का भू-आवेष्ठित जिला की संख्या कितनी है?
[A] 05
[B] 10 gaurela pendra marwahi district
[C] 15
[D] 20

[B] 10 (दंतेवाडा, दुर्ग, बालोद, बेमेतरा, रायपुर, बलौदाबाजार, बिलासपुर, कोरबा, जांजगीर-चांपा, सरगुजा)

Q.7 छत्तीसगढ़ के नया जिला गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिला का कलेक्टर (collector name) किसे बनाया गया ?
[A] शिखा राजपूत तिवारी
[B] डॉ. संजय कुमार अलंग
[C] बसव राजू एस
[D] डाॅ. एस भारतीय दासन

[A] शिखा राजपूत तिवारी
इन्हें भी पढ़ें
विषय संबंधित पोस्ट

2 Comments
  1. Krishna says

    Bahot bahot dhanyavad sir🙏🙏🙏

  2. Omlata Sahu says

    PDF files download ho sakta hi ky

reply

Your email address will not be published.

Answer Show नहीं होने पर Button के Right Side क्लिक करे.