हिन्दी साहित्यकार एवं उनके रचनाएँ | Hindi Literature Book List

हिन्दी साहित्यकार एवं उनके रचनाएँ | Hindi Literature Book Name

विषय - सूची

हिंदी साहित्य रचनाएँ (Hindi Literature Books for UPSC Notes): प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछे जाने वाले हिंदी व्याकरण (hindi grammar question pdf) के हिंदी साहित्य (hindi literature review) अंतर्गत प्रसिद्ध (प्रमुख) हिंदी साहित्यकार एवं उनके रचनाएँ (famous hindi litterateur and his compositions name) संबंधी उपन्यास (hindi novels pdf), काव्य संग्रह (poetry), काव्य नाटक, कहानी संग्रह, सामाजिक व ऐतिहासिक उपन्यास (historical novel), कहानियां, आत्मकथा, जीवनी, निबंध, रचनाएँ के नाम एवं प्रश्नोत्तरी (hindi literature quizzes) इस प्रकार है- पढ़ें प्रसिद्ध पुस्तकें और उनके लेखकों के नाम | Indian famous books writers name

hindi literature books; hindi literature upsc books; indian literature; hindi novel pdf; hindi literature books; indian literature writers name; hindi literature books for upsc; hindi literature books notes; hindi literature books upsc notes
Hindi Literature Writers: Hindi Literature Books Name for UPSC Notes

‘मुंशी प्रेमचंद’ की रचनाएँ

उपन्यास गोदान, सेवा सदन, प्रेमाश्रय, निर्मला, रंगभूमि, कर्मभूमि, कालाकल्प, गबन, प्रेमा, रूठी रानी (प्रेमचंद का एक मात्र ऐतिहासिक उपन्यास), प्रतिज्ञा (अपने उर्दू उपन्यास ‘हमखुशी एक हमसुबाब‘ के हिन्दी रूपान्तर ‘प्रेमा अर्थात् ‘दो सखियों का विवाह‘ को परिष्कृत तथा नये रूप में प्रकाशित कराया), वरदान (अपने उर्दू उपन्यास ‘जलवए ईसार‘ का हिन्दी रूपान्तर), मंगल सूत्र (प्रेमचंद का अंतिम और अपूर्ण उपन्यास)

कहानी संग्रह – नवविधि, प्रेेम पूर्णिमा, लाल फीता, नमक का दारोगा, प्रेम पचीसी, प्रेम प्रसून, प्रेम द्वाद्वशी, प्रेम तीर्थ, प्रेम प्रतिज्ञा, सप्त सुमन, प्रेम पंचगी, प्रेरणा, समरयात्रा, पंच प्रसून, नव जीवन, बड़े घर की बेटी, सप्त सरोज

प्रतिनिधि कहानियां – पंच परमेश्वर, सज्जनता का दंड, ईश्वरी न्याय, दुर्गा का मंदिर, आत्माराम, बूढ़ी काकी, सवा सेर गेहूं, शतरंज के खिलाड़ी, माता का हृदय, सुजान भगत, इस्तीफा, अलग्योझा, पूस की रात, बड़े भाई साहब, होली का उपहार, ठाकुर का कुआं, बेटों वाली विधवा, ईदगाह, प्रेम प्रमोद, नशा, दफन

नोट 1. मुंशी प्रेमचंद पहले नवाब राय‘ के नाम से लिखते थे।
        2. प्रेमचंद उपनाम से लिखी गयी पहली कहानी ‘ममता‘ है।

रामधारी सिंह ‘दिनकर‘ की रचनाएँ

काव्य संग्रह- उर्वशी, कुरूक्षेत्र, रश्मिरथी, हारे को हरिनाम, आत्मा की आंखें, दिनकर की सूक्तियां, सीपी और शंख, दिनकर के गीत, कवि श्री, कोयला और कवित्व, नीम के पत्ते, धूप और धुआं, मृत्ति तिलक, रश्मि लोक, रेणुका, हुंकार, रसवंती, सामधेनी

निबंध – शुद्ध कविता की खोज, रेती के फूल, भारत की सांस्कृतिक कहानी, साहित्य मुखी, राष्ट्रभाषा और राष्ट्रीय एकता, आधुनिक बोध, अर्धनारीश्वर, विवाह की मुसीबतें, वेणुवन, भारतीय एकता

डायरी – दिनकर की डायरी

संस्मरण- संस्मरण और श्रद्धांजलियां, लोकदेव नेहरू, मेरी यात्राएं

‘वृंदावन लाल वर्मा’ की रचनाएँ

ऐतिहासिक उपन्यास – मृगनयनी, गढ़ कुण्डार, विराटा की पद्मीनी, कचनार, टूटे कांटे, अहिल्याबाई, भुवन विक्रम, कीचड़ और कमल , सोती आग, देवगढ़ की मुस्कान

सामाजिक उपन्यास – संगम, कुण्डलीचक्र, लगन, प्रत्यागत

नाटक – झांसी की रानी, बीरबल, कश्मीर का कांटा, फूलों की बोली, पूर्व की ओर, खिलौने की खोज, राखी की लाज

कहानी संग्रह – कलाकार का दण्ड, तोषी, शरणागत, शेरशाह का न्याय, अंगूठी का दान, दबे पांव, रश्मि सलिल

नोट1. वृंदावन लाल वर्मा ने बुंदेलखण्ड की ऐतिहासिक सामाजिक पृष्ठ भूमि को आधार बनाकर उपन्यास लिखे।
        2. हिन्दी में ऐतिहासिक कहानियों की परम्परा को वृंदावन लाल वर्मा ने जन्म दिया।

‘माखन लाल चतुर्वेदी’ की रचनाएँ

काव्य संग्रह – हिमकिरीटिनी, हिमतरंगिणी, वनवासी, कला का अनुवाद, नागार्जुन युद्ध, साहित्य देवता, वेणु लो गूंजे धरा, माता, युगचरण मरणज्वार, बीजुरी काजल आँज रही, समर्पण, वलय धूम

निबंध – अमीर इरादे गरीब इरादे, रंगों की होली, साहित्य देवता

संपादन – प्रभा (मासिकी)

नोट – प्रसिद्ध कविता ‘पुष्प की अभिलाषा‘ माखन लाल चतुर्वेदी की है।

‘जयशंकर प्रसाद’ की रचनाएँ

काव्य संग्रह – कामायनी, उर्वशी, आंसू, वन मिलन, प्रेम राज्य, अयोध्या का उद्धार, शोकोच्छवास, वश्रुवाहन, कानन कुसुम, प्रेम पथिक, करूणाचल, महाराणा का महत्व, चित्राधार, झरना, लहर

कहानी संग्रह – आकाशदीप, आंधी, प्रतिध्वनि इंद्रजाल, छाया

उपन्यास – तितली, कंकाल

नाटक – चंद्रगुप्त, अजात शत्रु, स्कंदगुप्त, राज्यश्री, विशाख, जन्मेजय का नागयज्ञ, कामना, एक घूंट, ध्रुवस्वामिनी, सज्जन, कल्याणी परिणय, प्रायश्चित

निबंध – काव्य और कला तथा अन्य निबंध

नोट1. प्रसाद के प्रथम नाटक ‘सज्जन‘ का कथानक महाभारत से लिया गया है
        2. प्रसाद का अंतिम नाटक ‘ध्रुवस्वामिनी‘ है।

‘सुमित्रा नंदन पंत’ की रचनाएँ

काव्य संग्रह – चिदंबरा, रश्मि बंधन, पतझर, पल्लविनी, वीणा, वाणी, ग्रंथि, पल्लव, गंुजन, युगांत, युगवाणी, ग्राम्या, स्वर्ण-किरण, स्वर्ण-धूलि, सत्यकाम, उत्तरा, युगपथ, कला और बूढ़ा चांद, रजत शिखर, शिल्पी, अतिमा, उच्छ्वास, लोकायतन (महाकाव्य)

नाटक – ज्योत्सना

अनुवाद – मधुज्वाल

आलोचना ग्रंथ – गद्यपथ, शिल्प और दर्शन, छायावाद का पुनर्मूल्यांकन

‘महादेवी वर्मा’ की रचनाएँ

काव्य संग्रह – नीहार, रश्मि, नीरजा, सांध्यगीत, दीपशिखा, यामा, सप्तपर्णा, हिमालय, अग्नि रेखा

निबंध – अतीत के चलचित्र, स्मृति की रेखाएं, अबला और सबला, श्रृंखला की कड़ियां, साहित्यकार की आस्था, क्षणदा

आलोचना – हिन्दी विवेचनात्मक गद्य

स्मरण और रेखाचित्र – पथ के साथी, मेरा परिवार

संपादन – आधुनिक कवि, चांद पत्रिका

नोट ‘यामा‘ पर महादेवी वर्मा को ‘ज्ञानपीठ पुरस्कार‘ मिला था। ‘यामा‘ में नीरजा, नीहार, रश्मि और सांध्य गीत के सभी गीतों का संग्रह है।

‘वियोग हरि’ की रचनाएँ

रचनाएँ – प्रेमशतक, प्रेमपथिक, प्रेमांजलि, वीर सतसई

‘लछिराम (ब्रम्हभट्ट)’ की रचनाएँ

रचनाएँ – महेश्वर विलास (नायिका भेद एवं नवरस), रामचंद्र भूषण (अंलकार निरूपण), रावणेश्वर कल्पतरू (सर्व काव्यांग निरूपण)

‘फणीश्वरनाथ रेणु’ की रचनाएँ

उपन्यास – मैला आंचल, परती, परिकथा, दीर्घतपा, जुलूस, पल्टू बाबू रोड, तीसरी कसम उर्फ मारे गये गुलफाम

कहानी संग्रह – ठुमरी, आदिम रात्रि की महक, अग्निखोर, एक श्रावणी दोपहर की धूप, अच्छे आदमी, लाल पान की बेगम

‘बंकिमचंद्र चटर्जी’ की रचनाएँ

रचनाएँ – वंदेमातरम, आनंद मठ, कपाल कुंडला, दुर्गेश नंदिनी, चंद्रशेखर, विष वृक्ष

‘पं. बालकृष्ण भट्ट’ की रचनाएँ

रचनाएँ – साहित्य सुमन, भट्ट निबंधावली, एक अजान सौ सुजान, नूतन ब्रम्हचारी, बाल विवाह, चंद्रसेन, दमयंती स्वयंवर, वेणुसंहार, जैसा काम वैसा परिणाम, देवताओं से हमारी बातचीत, नये तरह का जनून, देश सेवा महत्तव, राजा और प्रजा, 

संपादन – हिन्दी प्रदीप (समाचार पत्र), अनुवाद – पद्मावती, शर्मिष्ठा (नाटक)

‘भगवती चरण वर्मा’ की रचनाएँ

उपन्यास – चित्रलेखा, पतन, तीन वर्ष, टेढ़े मेढ़े रास्ते, सामथ्र्य और सीमा, रेखा, सीधी सच्ची बातें, सबहिं नचावत राम गोसाई, प्रश्न और मरीचिका, थके पांव, भूले बिसरे चित्र, आखिरी दांव, युवराज चूण्डा, चाणक्य

काव्य नाटक – तारा, सबसे बड़ा आदमी (एकांकी) 

कहानी – मुगलों के सल्तनत बख्श दी, इन्सटालमेंट, दो बांके, प्रायश्यित (कहानी संग्रह)

‘आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी’ की रचनाएँ

मौलिक ग्रंथ – अद्भुत आलाप, सुकवि संकीर्तन, साहित्य संदर्भ, विचार-विमर्श, रसज्ञ रंजन, संकलन, साहित्य सीकर, कालिदास की निरंकुशता, कालिदास और उनकी कविता, हिदी भाषा की उत्पत्ति, अतीत स्मृति, वाग्विलास

अनुदित ग्रंथ – रघुवंश, हिन्दी महाभारत, रितु तरंगिनी, कुमार संभव सार, किरातार्जुनीयम्, बेकन विचारमाला, शिक्षा, स्वाधीनता, गंगा लहरी

निबंध – नाट्यशास्त्र, कवि और कविता, कवि बनने के लिए सापेक्ष साधन, संपत्तिशास्त्र, उपन्यास रहस्य, भाषा और व्याकरण, नेपाल, आगरे की शाही इमारतें, आत्म निवेदन, प्रभात, म्यूनिसिपैलिटी के कारनामे

जीवनी संकलन – प्राचीन पंडित और कवि, चरित्र चर्चा

आलोचन – आलोचनांजलि,

समालोचना – समुच्चय, नैषधचरित चर्चा

‘राहुल सांकृत्यायन’ की रचनाएँ

उपन्यास – सिंह सेनापति, जययौधेय, जीने के लिए, मधुर स्वप्न, विस्मृत याची

कहानी संग्रह – सतमी के बच्चे, वोल्गा से गंगा, कनैला की कथा, बहुरंगी मधुपुरी,

रेखाचित्र संस्मरण – बचपन की स्मृतियां, जिनका मैं कृतज्ञ, मेरे असहयोग के साथी

आत्मकथा – मेरी जीवन यात्रा

जीवनी – स्तालिन, लेनिन, कार्लमाक्र्स, माउत्से तुंग

यात्रा साहित्य – मेरी तिब्बत यात्रा, मेरी लद्दाख यात्रा, रूस में 25 मास, किन्नर देश में अन्य हिन्दी काव्य धारा, पाली साहित्य का इतिहास

‘श्याम नारायण पाण्डेय’ की रचनाएँ

काव्य संग्रह – हल्दीघाटी, जौहर, जय हनुमान, रूपान्तर, आरती, माधव, रिमझिम, आंसू के कण, गोरा वध, तुमुल (काव्य कृति ‘त्रेता के दो वीर‘ का परिवर्द्धित संस्करण)

‘आम्बिका प्रसाद बाजपेई’ की रचनाएँ

रचनाएँ – हिन्दी कौमुदी, पद्म पुष्पावली, शिवाजी दासरानी, ब्रजभाषा में – भौमासुर वध, विनय पचासा

‘कामता प्रसाद गुरू’ की रचनाएँ

रचनाएँ – हिन्दी व्याकरण

कन्हैया लाल मिश्र ‘प्रभाकर‘ की रचनाएँ

आकाश के तारे, धरती के फूल, जिंदगी मुस्काई, भूले बिसरे चेहरे, दीप जले शंक बजे, महके आंगन चहके द्वार, माटी हो गई सोना, बाजे पायलिया के घुंघरू, क्षण बोले कण मुस्काए

संपादन – नया जीवन, विकास

‘के. एम. मुंशी’ की रचनाएँ

रचनाएँ – जय सोमनाथ, पृथ्वी वल्लभ, अहिंसा, प्रतिशोध, विश्वामित्र

सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला‘ की रचनाएँ

काव्य संग्रह – अनामिका, परिमल, गीतिका, अपरा, तुलसीदास, जूही की कली, अणिमा, कुकुरमुत्ता बेला, नए नए पत्ते, राम की शक्ति पूजा, सरोज, स्मृति, अर्चना, अराधना, गीतगुंज, सांध्यकाकली

उपन्यास – अप्सरा, अलका, निरूपमा, प्रभावती, चोटी की पकड़, कुल्ली भाट, काले कारनामे

हास्य उपन्यास – चतुरी चमार, बल्लेसुर बकरिहा

कहानियां – लिली, सुखी

समालोचना – रवीन्द्र की कविता

‘सोहन लाल द्विवेदी’ की रचनाएँ

काव्य संग्रह – मुक्तिगंधा, कुणाल, युगाधार, दूध बताशा, चित्रा, वासवदत्ता, भैरवी, पूजा गीत, कुणाल, प्रभाती, वासंती (प्रेमगीत संग्रह), विषपान (आख्यान प्रधान काव्य संग्रह), शिशु भारतीय, बाल भारती (बालगीत संग्रह), जय गांधी, बांसुरी, झरना, बिगुल, सुजाता, पूजा के स्वर, मोदक

‘सुभद्रा कुमारी चौहान’ की रचनाएँ

काव्य संग्रह – मुकुल, त्रिधारा

कहानी संग्रह – बिखरे मोती, उन्मादिनी, सीधे सीधे चित्र

‘बाबू गुलाबराय’ की रचनाएँ

रचनाएँ – फिर निराश क्यो?, तर्क शास्त्र, मैत्री शास्त्र, शांति धर्म, पाश्चात्य दर्शनों की इतिहास, नवरत्न, प्रबंध प्रभाकर, प्रबंधमाला, हिन्दी साहित्य का सुबोध इतिहास, हिन्दी नाट्य विमर्श, सिद्धांत और अध्ययन, काव्य के रूप, ठलुवा क्लब, जीवन पथ, मेरी असफलताएं, कुछ उथले कुछ गहरे

हिंदी साहित्यकार की रचना संबंधी प्रश्नोत्तरी | Hindi Literature Book MCQs

Q.1: ‘कुटज‘ किसकी रचना है ?
[A] हजारी प्रसाद द्विवेदी
[B] मोहन राकेश
[C] जैनेन्द्र कुमार
[D] नागार्जुन

[A] हजारी प्रसाद द्विवेदी

Q.2: ‘पूस की रात‘ किस रचनाकार की रचना है ?
[A] धर्मवीर भारती
[B] जयशंकर प्रसाद
[C] मुंशी प्रेमचंद
[D] मन्नू भण्डारी

[C] मुंशी प्रेमचंद

Q.3: ‘ध्रुवस्वामिनी नाटक‘ के रचनाकार का नाम क्या है ?
[A] जयशंकर प्रसाद
[B] महादेवी वर्मा
[C] रामवृक्ष बेनीपुरी
[D] सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन “अज्ञेय”

[A] जयशंकर प्रसाद

Q.4: ‘संस्कृति के चार अध्याय‘ के रचनाकार है ?
[A] रामधारी सिंह दिनकर
[B] श्री लाल शुक्ल
[C] गोविंद मिश्रा
[D] सुदामा पाण्डेय ‘धूमिल’

[A] रामधारी सिंह दिनकर

Q.5: ‘ग्यारह वर्ष का समय‘ किसकी रचना है ?
[A] भीष्म साहनी
[B] यशपाल
[C] मुंशी प्रेमचंद
[D] रामचन्द्र शुक्ल

[D] रामचन्द्र शुक्ल

Q.6:दशरथ सुत तिहुं लोक बखाना, राम नाम का मरम है‘ पंक्ति है ?
[A] रैदास (संत रविदास)
[B] स्वामी रामानंद
[C] कबीर
[D] तुलसीदास

[D] तुलसीदास

Q.7:जाति-पांति पूछै नहीं कोई, हरि को भजै सो हरि का होय‘ पंक्ति है ?
[A] रहीम
[B] स्वामी रामानंद
[C] कबीर दास
[D] सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन “अज्ञेय”

[C] कबीर दास

Q.8:संतन कहा सीकरी सौ काम‘ किसकी पंक्ति है ?
[A] संत मलूकदास
[B] परमानंद दास
[C] कुंभनदास
[D] सूरदास

[C] कुंभनदास

Q.9:पुष्टिमार्ग को जहाज जात है सो जाको कछु लेना होय लेउ‘ पंक्ति है ?
[A] तुलसीदास
[B] वल्लभाचार्य
[C] विट्ठलनाथ
[D] सूरदास

[C] विट्ठलनाथ

Q.10:गोद लिए तुलसी फिरै, तुलसी सो सुत होय‘ यह पंक्ति किस कवि की है ?
[A] तुलसीदास
[B] नाभादास
[C] रहीम
[D] ईश्वरदास

[A] तुलसीदास

Q.11: ‘मगहर‘ स्थान का संबंध किससे है ?
[A] तुलसीदास
[B] कबीरदास
[C] सूरदास
[D] मलिक मुहम्मद जायसी

[B] कबीरदास

Q.12: कबीर की रचनाओं का संकलन किसने किया था ?
[A] ईश्वरदास
[B] दादू दयाल
[C] रैदास (संत रविदास)
[D] धर्मदास

[D] धर्मदास

Q.13: सूरदास की कौन सी रचना उनकी प्रसिद्धि का मूल आधार है ?
[A] साहित्य लहरी
[B] सूरसागर
[C] गीता
[D] सूररामायण

[B] सूरसागर

Q.14: ‘पृथ्वीराज रासो‘ किस काल की रचना है ?
[A] भक्तिकाल
[B] रीतिकाल
[C] आदिकाल
[D] आधुनिक काल

[C] आदिकाल

Q.15: ‘संदेश रासक‘ के रचयिता कौन है ?
[A] सैय्यद इब्राहीम ‘रसखान’ 
[B] रामधारी सिंह दिनकर
[C] अब्दुल रहमान
[D] अमीर खुसरो

[C] अब्दुल रहमान

Q.16:केशव कहि न जाइ का कहिए‘ – यह पंक्ति किसकी है ?
[A] केशवदास
[B] सूरदास hindi literature
[C] कुंभनदास
[D] तुलसीदास

[D] तुलसीदास

Q.17: बिहारी किस काल के कवि थे ?
[A] रीतिकाल
[B] भक्तिकाल
[C] आदिकाल
[D] आधुनिक काल

[A] रीतिकाल

Q.18: ‘आनंद कादम्बिनी‘ के संपादक कौन थे ?
[A] बाबू महादेव
[B] चंद्रधर शर्मा ‘गुलेरी‘
[C] बदरीनारायण चौधरी
[D] अम्बिका प्रसाद व्यास

[C] बदरीनारायण चौधरी

Q.19: ‘एक भारतीय आत्मा‘ के नाम से लोकप्रिय रचनाकार है ?
[A] सियारामशरण गुप्ता
[B] माखनलाल चतुर्वेदी
[C] मैथिलीशरण गुप्त
[D] महावीर प्रसाद द्विवेदी

[B] माखनलाल चतुर्वेदी

Q.20: गांधी जी को ‘राष्ट्र कवि‘ की उपाधि किसको दिया था ?
[A] चंद्रधर शर्मा गुलेरी
[B] महावीर प्रसाद द्विवेदी जी
[C] मैथिलीशरण गुप्त
[D] प्रताप नारायण मिश्र

[C] मैथिलीशरण गुप्त

Q.21: ________ व्यक्ति को किंकर्तव्यविमूढ़ बना देती है ?
[A] दुविधा
[B] सुविधा
[C] विविधा
[D] अविधा

[A] दुविधा

Q.22: हिन्दी किस लिपि में लिखी जाती है ?
[A] ब्राम्ही लिपि
[B] देवनागरी लिपि
[C] खरोष्ठी लिपि
[D] गुरूमुखी लिपि

[B] देवनागरी लिपि

Q.23: आधुनिक हिन्दी साहित्य की पहली आत्मकथा के लेखक कौन माने जाते हैं ?
[A] बाबू श्यामसुंदर दास
[B] देवेन्द्र सत्यार्थी
[C] हरिवंश राय बच्चन
[D] जयशंकर प्रसाद

[B] देवेन्द्र सत्यार्थी

Q.24: किस कवि को ‘कवियों का कवि‘ कहा जाता है ?
[A] धर्मवीर भारती
[B] शमशेर बहादुर सिंह
[C] रघुवीर सहाय
[D] सर्वेश्वर दयाल सक्सेना

[B] शमशेर बहादुर सिंह

Q.25: ‘अति सूधो सनेह को मारग है‘ किसकी पंक्ति है ?
[A] आलम
[B] बोधा hindi literature
[C] ठाकुर
[D] घनानंद

[D] घनानंद

Q.26: महावीर प्रसाद द्विवेदी ने आदिकाल को क्या संज्ञा दी है ?
[A] चारणकाल
[B] आदिकाल
[C] वीरकाल
[D] बीजवपनकाल

[D] बीजवपनकाल

Q.27:अमिय हलाहल मदभरे, सेत, स्याम रतनार। जियत मरत झुकि-झुकि परत जेहि चितवत एक बार‘ किसकी पंक्ति है ?
[A] देव hindi literature
[B] महाकवि बिहारीलाल 
[C] रसलीन (सैयद गुलाम नबी)
[D] मतिराम

[C] रसलीन

Q.28: ‘हिन्दी नयी चाल में ढली‘ कथन किसका है ?
[A] हजारी प्रसाद द्विवेदी
[B] भारतेन्दु हरिशचंद
[C] रामचंद्र शुक्ल
[D] नगेन्द्र शर्मा

[B] भारतेन्दु हरिशचंद

Q.29: ‘हम दीवानों की क्या हस्ती है आज यहां कल वहां चले‘ किसकी पंक्तियां है ?
[A] नरेन्द्र शर्मा
[B] हरिवंश राय बच्चन
[C] बालकृष्ण शर्मा ‘नवीन‘
[D] भगवतीचरण वर्मा

[D] भगवतीचरण वर्मा

Q.30: छायावादी प्रवृत्ति की रचना सबसे पहले दिखलायी पड़ी –
[A] सुमित्रानंदन पंत की कविता में
[B] मुकुटधर पाण्डेय की रचनाओं में
[C] सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला‘ में
[D] श्रीधर पाठक में

[B] मुकुटधर पाण्डेय की रचनाओं में

इन्हें भी पढ़ें

विषय संबंधित पोस्ट

reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!